स्पेन की राजधानी मैड्रिड से रवाना हुई एक फ्लाइट की सोमवार को ब्राजील में इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई। उरुग्वे जा रहा एयर यूरोपा का विमान टर्बुलेंस में फंस गया, जिसमें करीब 30 यात्री घायल हो गए। इसके बाद प्लेन को डायवर्ट कर ब्राजील के नातल एयरपोर्ट पर लैंड कराया गया। टर्बुलेंस के दौरान विमान के फोटो-वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि घटना के समय प्लेन के एक हिस्से की छत को नुकसान पहुंचा है। वहीं कई सीट भी डैमेज हो गईं। तेज झटकों की वजह से कई पैसेंजर्स विमान की छत से टकरा गए। इस दौरान एक यात्री फंस गया, जिसे बाद में दूसरे लोगों ने मिलकर नीचे उतारा। टर्बुलेंस के दौरान एक महिला की गर्दन में झटका आ गया। वहं कई लोगों को चोट आईं। एयर यूरोपा कंपनी ने अपने स्टेटमेंट में कहा है कि तेज टर्बुलेंस की वजह से विमान की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई है। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पैसेंजर्स को उरुग्वे पहुंचाने के लिए एक दूसरे विमान की व्यवस्था की गई है। सिंगापुर एयरलाइंस के विमान में टर्बुलेंस से 104 लोग घायल हुए थे
ब्राजील के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि टर्बुलेंस में घायल हुए ज्याादतर लोगों को मामूली चोटें आई हैं। हालांकि, कुछ को हड्डी और मांसपेशियों में भी चोट लगी है। इससे पहले 21 मई को सिंगापुर एयरलाइंस का विमान टर्बुलेंस में फंस गया था। इस दौरान 73 साल के एक पैसेंजर की मौत हो गई थी, जबकि 104 लोग घायल हुए थे। फ्लाइट लंदन से सिंगापुर जा रही थी। खराब मौसम की वजह एयर टर्बुलेंस में फंसी फ्लाइट 3 मिनट के अंदर 37 हजार फीट की ऊंचाई से 31 हजार फीट की ऊंचाई पर आ गई थी। ऊंचाई अचानक से कम होने की वजह से कई यात्री अपनी सीट से उछल गए थे और उन्हें चोटें आई थीं। पूरी खबर यहां पढ़ें… क्या होता है टर्बुलेंस?
विमान में टर्बुलेंस या हलचल का मतलब होता है- हवा के उस बहाव में बाधा पहुंचना, जो विमान को उड़ने में मदद करती है। ऐसा होने पर विमान हिलने लगता है और अनियमित वर्टिकल मोशन में चला जाता है यानी अपने नियमित रास्ते से हट जाता है। इसी को टर्बुलेंस कहते हैं। कई बार टर्बुलेंस से अचानक ही विमान ऊंचाई से कुछ फीट नीचे आने लगता है। यही वजह है कि टर्बुलेंस की वजह से विमान में सवार यात्रियों को ऐसा लगता है, जैसे विमान गिरने वाला है। टर्बुलेंस में प्लेन का उड़ना कुछ हद तक वैसा ही है, जैसे-उबाड़-खाबड़ सड़क पर कार चलाना। कुछ टर्बुलेंस हल्के होते हैं, जबकि कुछ गंभीर होते हैं। किसी भी प्लेन को स्थिर तौर पर उड़ने के लिए जरूरी है कि इसके विंग के ऊपर और नीचे से बहने वाली हवा नियमित हो। कई बार मौसम या अन्य कारणों से हवा के बहाव में अनियमितता आ जाती है, इससे एयर पॉकेट्स बन जाते हैं और इसी वजह से टर्बुलेंस होता है। टर्बुलेंस तीव्रता के लिहाज से तीन तरह के होते हैं क्या टर्बुलेंस की वजह से प्लेन क्रैश हो सकता है?