ऑस्ट्रेलिया में गुरुवार को फिलिस्तीन समर्थक प्रदर्शनकारियों ने संसद की छत पर ‘फ्री फिलिस्तीन’ के पोस्टर फहराए। ऑस्ट्रेलियाई न्यूज चैनल ABC के मुताबिक काले कपड़े पहने 4 लोग तेजी से संसद के अंदर घुसे और छत पर जाकर फ्री फिलिस्तीन के नारे लगाने लगे। उनके हाथ में पोस्टर्स भी थे, जिसमें लिखा था ‘फ्रॉम रिवर टू सी, फिलिस्तीन विल बी फ्री।’ इस पर ऑस्ट्रेलियाई रक्षा मंत्री ने कहा कि देश में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन की इजाजत है। अगर कोई भी व्यक्ति हमारे लोगों का सम्मान नहीं करता और लोगों की जान को खतरे में डालता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले प्रधानमंत्री एंथनी अल्बानीज की सरकार ने अपनी एक मुस्लिम सांसद फातिमा पयमान को निलंबित कर दिया था। फातिमा ने ऑस्ट्रेलिया की ग्रीन पार्टी के लाए गए फिलिस्तीन को एक स्वतंत्र देश की मान्यता देने के प्रस्ताव का समर्थन किया था। प्रदर्शनकारी एक घंटे तक संसद की छत पर चढ़े रहे
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रदर्शनकारी रेनेगेड एक्टिविस्ट ग्रुप से जुड़े हुए थे। वे लोग एक घंटे तक छत पर चढ़े रहे और पोस्टर्स लहरा रहे थे, उनमें से एक पोस्टर में लिखा था ‘जिस जमीन पर जबरदस्ती कब्जा है, वहां कभी शांति नहीं हो सकती।’ प्रदर्शनकारी अपने साथ स्पीकर लेकर आए थे और जोर-जोर से चिल्लाकर आरोप लगा रहे थे कि अमेरिका के समर्थन से गाजा में इजराइल ने ‘युद्ध अपराध’ किया है। उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री एंथनी अल्बानीज पर जंग में इजराइल का साथ देने का आरोप लगाया है। ‘हम अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे’
प्रदर्शनकारियों ने कहा कि हम अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे। हम अमेरिका के साम्राज्यवादी, वर्चस्ववादी और पूंजीवादी हितों को उजागर करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई सरकार भी इसमें मिली हुई है। एक्टिविस्ट ग्रुप ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया हमारे ‘पावरफुल और शक्तिशाली’ देशों के लिए युद्ध अपराध को बढ़ावा देता है। सुरक्षाकर्मियों ने मोर्चा संभालते हुए प्रदर्शनकारियों को संसद से हटा दिया है। अब ऑस्ट्रेलियाई सरकार इस पूरी घटना पर अब संसद में जवाब देंगी। ये खबरें भी पढ़े… ऑस्ट्रेलिया-दिल्ली की फ्लाइट में भारतीय महिला की मौत:4 साल बाद देश लौट रही थी, परिवार की मदद के लिए दोस्तों ने 31 लाख जुटाए ऑस्ट्रेलिया से दिल्ली आ रही भारतीय महिला की फ्लाइट में मौत हो गई। महिला की पहचान 24 साल की मनप्रीत कौर के तौर पर हुई है। वो 4 साल बाद अपने घर लौटने के लिए रवाना हो रही थी। फ्लाइट में चढ़ने के कुछ ही मिनट में मनप्रीत की मौत हो गई। मनप्रीत के दोस्त गुरदीप ग्रेवाल ने बताया कि वह मेलबर्न एयरपोर्ट पहुंचने से पहले ही बीमार थी। जब उसने क्वांटास इंटरनेशनल फ्लाइट में सीट बेल्ट बांधने की कोशिश की तो इसी दौरान वह गिर गई और उसकी मौत हो गई…यहां पढ़े पूरी खबर