दक्षिणी गाजा के राफा इलाके में शनिवार को हुए विस्फोट में 8 इजराइली सैनिक मारे गए। इजराइल डिफेंस फोर्स के मुताबिक, ये सभी सैनिक नेमर नाम के बख्तरबंद कॉम्बैट इंजीनियरिंग व्हीकल (CEV) के अंदर थे। जनवरी में गाजा में एक ब्लास्ट में 21 इजराइली सैनिक मारे गए थे, उसके बाद यह पहला ऐसा हादसा है जिसमें इतनी बड़ी संख्या में सैनिक मारे गए हैं। IDF ने बताया कि हादसा स्थानीय समय के मुताबिक सुबह करीब 5:15 बजे हुआ। राफा के तल अल-सुल्तान इलाके के उत्तरपश्चिमी हिस्से में हमास के आतंकी ठिकानों को तबाह करने निकली इजराइली सेना की एक टुकड़ी करीब 50 आतंकियों को मारकर लौट रही थी। तभी काफिले का एक वाहन ब्लास्ट की चपेट में आ गया। IDF के प्रवक्ता डेनियल हैगरी ने बताया कि अब तक हमें जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक शायद यह ब्लास्ट इलाके में प्लांट किए गए विस्फोटकों में हुआ या सेना के काफिले की तरफ एंटी-टैंक मिसाइल फायर की गई थी। ब्लास्ट इतना भीषण था कि मरने वाले सैनिकों में से सिर्फ एक की पहचान हो सकी है। ​​​​​​CEV के बाहर स्टोर किए गए विस्फोटकों में ब्लास्ट की संभावना
डेनियल हैगरी ने कहा कि इस संभावना की भी जांच की जा रही है कि कॉम्बैट इंजीनियरिंग व्हीकल के बाहर की तरफ स्टोर किए गए विस्फोटकों में ब्लास्ट हुआ हो। आमतौर पर किसी कॉम्बैट इंजीनियरिंग व्हीकल के बाहर की तरफ स्टोर किए गए एक्सप्लोसिव में अगर ब्लास्ट होता भी है तो उससे अंदर बैठे सैनिक घायल नहीं होते हैं। हैगरी ने यह भी बताया कि जांच में यह सामने आया है कि विस्फोट के दौरान गनफायर नहीं हुआ और वाहन एक जगह रुका नहीं था। इस हादसे के बाद इजराइल के रक्षा मंत्रालय और IDF से एक्सपर्ट्स की एक टीम व्हीकल की जांच करेगी और इस ब्लास्ट के सही कारणों का पता लगाएगी। हमास की मिलिट्री विंग बोली- हमने दुश्मन के व्हीकल को निशाना बनाया
इजराइली सेना की तरफ से इस ब्लास्ट को लेकर अभी तक किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया गया है। हालांकि हमास के मिलिट्री विंग अल कासम ब्रिगेड ने कहा है कि उसने तल अल-सुल्तान इलाके में मौजूद दुश्मन के व्हीकल पर घातक हमला किया है। अल कासम ब्रिगेड ने कहा कि उसने एक मिलिट्री बुलडोजर को निशाना बनाया, जिसमें आग लग गई। जब रेस्क्यू ट्रूप वहां पहुंचे तो बख्तरबंद व्हीकल पर मिसाइल से हमला किया। ब्रिगेड ने कहा कि दुश्मन जहां भी हो, उसके खिलाफ हमारे हमले जारी रहेंगे। हमारे इलाकों पर कब्जा करने वाली आर्मी को सिवाए मौत के फंदे के और कुछ नहीं मिलेगा। ये खबरें भी पढ़ें… इजराइल ने हमास की कैद से 4 बंधक छुड़ाए:इनमें 25 साल की नोआ जिसे बाइक पर उठा ले गए थे हमास लड़ाके; 274 फिलिस्तीनी मारे गए इजराइल ने हमास की कैद से 4 बंधकों को छुड़ा लिया है। इजराइल ने 8 जून को दावा किया कि उसकी सेना ने गाजा के नुसीरत शरणार्थी शिविर में फायरिंग के बीच इस ऑपरेशन को अंजाम दिया। CNN ने गाजा अथॉरिटी के हवाले लिखा है कि इजराइलियों को छुड़ाने के लिए चलाए इस ऑपरेशन में कम से कम 274 फिलिस्तीनियों की मौत हुई है। इसके अलावा 400 से अधिक लोग घायल हुए हैं। पूरी खबर यहां पढ़ें… इजराइली म्यूजिक फेस्टिवल पर हमास ने कैसे किया हमला:लड़ाकों ने 3 तरफ से घेरकर 260 को मारा; महिलाओं को अगवा करके गाजा ले गए तारीख- 7 अक्टूबर, समय- सुबह 6:30 बजे, जगह- इजराइल का बॉर्डर इलाका किबुत्ज रीम। यहां इजराइल के नोवा म्यूजिक फेस्ट के लिए जुटे हजारों लोगों को आसमान में गाजा पट्टी की तरफ से दागे गए रॉकेट्स दिखाई दिए। वो कुछ समझ पाते, इससे पहले ही वहां हमास के लड़ाके मोटरसाइकिल, गाड़ियां और ट्रैक्टर लेकर पहुंच गए और ताबड़तोड़ गोलीबारी शुरू कर दी। लोगों के बीच अफरा-तफरी मच गई। सभी अपनी जान बचाने के लिए यहां-वहां दौड़ने लगे। रॉकेट के हमलों से बचने के लिए छिप गए। कुछ लोग जमीन पर लेट गए। देखते ही देखते आसमान से हजारों रॉकेट इजराइल की ओर बढ़ने लगे, जिनसे कहीं भी अटैक हो सकता था। रॉकेट अटैक के बीच हमास के लड़ाके पैराग्लाइडर्स, बाइक, कार से इजराइली सीमा में घुसते जा रहे थे। इस बीच म्यूजिक फेस्टिवल के पास के ही एक मिलिट्री बेस पर भी हमला हुआ…पूरी खबर पढ़े