14 अप्रैल को सलमान खान के बांद्रा स्थित घर गैलेक्सी अपार्टमेंट पर गोलियां चलाई गई थीं। दो महीने बाद मुंबई पुलिस ने इस मामले पर सलमान खान का बयान लिया है। अपने बयान में सलमान ने खुलासा किया है कि 14 अप्रैल की सुबह गोलियों की आवाज सुनकर ही उनकी नींद खुली थी। वहीं पुलिस ने क्लेम किया है कि इन शूटर्स ने लॉरेंस बिश्नोई गैंग के इशारे पर ही 58 साल के एक्टर को मारने की प्लानिंग की थी। 4 जून को रिकॉर्ड किए गए सलमान और उनके भाईयों के बयान
मुंबई क्राइम ब्रांच के 4 लोगों की टीम ने बीते 4 जून को सलमान और उनके भाइयों सोहेल और अरबाज का स्टेटमेंट रिकॉर्ड किया था। इस दौरान सलमान के भाईयों से 6 घंटे तक पूछताछ की गई। रिपोर्ट्स की मानें तो अपने बयान में सलमान ने पुलिस को बताया है कि उन्हें महसूस हुआ था कि उनकी जान खतरे में हैं। उन्होंने मुंबई पुलिस को उनकी मदद के लिए धन्यवाद भी कहा है। अपने बयान में सलमान ने कहा कि वो 13 अप्रैल को पार्टी करने के बाद देर रात सोए थे। सुबह गोलियों की आवा सुनकर उनकी नींद खुली। इसके बाद भागकर बालकनी में भी गए। उन्होंने वहां से बाहर झांककर देखा तो बाहर कोई नहीं था।