एक्ट्रेस फरीदा जलाल ने हाल ही में अमिताभ बच्चन और जया बच्चन के रिश्ते पर बात की है। फरीदा ने बताया कि वे दोनों के साथ कॉफी डेट और लेट नाइट ड्राइविंग पर जाती थीं। वे दोनों के साथ जाना तो नहीं चाहती थीं क्योंकि उन्हें जल्दी सोना होता था। हालांकि इसके बाद भी वे लोग फरीदा को अपने साथ जरूर ले जाते थे। उन्होंने तो जया और बिग बी को लड़ते भी देखा है। उन्होंने कहा कि दोनों छोटी-छोटी चीजों पर लड़ते थे। जया रोती थीं और बिग बी उन्हें मनाते थे। फरीदा ने बताया कि वे तीनों लोगों ने साथ में बहुत अच्छा टाइम स्पेंड किया है। जया लंबे वक्त से उनकी दोस्त हैं। बता दें, फरीदा ने जया और बिग बी के साथ कई फिल्मों में काम किया है। हाल में फरीदा को संजय लीला भंसाली की सीरीज हीरामंडी में देखा गया है। ‘जया और अमित जी के साथ लेट नाइट ड्राइव पर जाती थी’
फरीदा जलाल ने बॉलीवुड बबल को दिए इंटरव्यू में कहा कि वो, जया और अमिताभ बच्चन अक्सर साथ में ताज होटल में कॉफी पीने और लंबी ड्राइव पर जाते थे। इस दौरान उन्होंने बिग बी और जया बच्चन का झगड़ा भी देखा था। फरीदा जलाल ने कहा- मैं पाली हिल में रहती थी और अमित जी जुहू में रहते थे। दोनों (जया और बिग बी) की शादी होने वाली थी। कपल की तरह उनके बीच में भी झगड़े होते थे। अमित जी रात के वक्त गाड़ी चलाते थे, जया बगल में बैठती थीं और मैं पीछे। मैं उनसे बोलती थी- मुझे आप लोग कबाब में हड्डी क्यों बनाते हो। कॉपी डेट से लौटने के बाद हम फिल्मों के बारे में बात करते थे। ‘जया रोती थीं और अमित जी उन्हें चुप कराते थे’
फरीदा ने आगे कहा- मैं उन लोगों से रिक्वेस्ट करती थी कि मुझे लेट नाइट लेकर ना जाएं। वजह ये थी कि मुझे जल्दी सोने की आदत थी। हालांकि इसके बाद भी वे दोनों मुझे बुलाते थे। मैंने तो उन्हें लड़ते हुए भी देखा है। जया रोती थीं और अमित जी उन्हें मनाते थे। ये देख मुझे बहुत अच्छा लगता था। जया के साथ मेरी दोस्ती लंबे वक्त से है। मैं प्यार से उन्हें जिया बुलाती हूं। दोनों ने अपनी शादी में सिर्फ मुझे और गुलजार साहब को बुलाया था। इंडस्ट्री से कोई और वहां नहीं था। ‘दोनों बच्चों की तरह लड़ते थे’
फरीदा ने आगे बताया कि जया और बिग बी अक्सर लड़ते थे। उन्होंने कहा- वे दोनों छोटी-छोटी चीजों बातों पर लड़ते थे, जिसे मैं बता नहीं सकती हूं। वे बच्चों की तरह लड़ते थे। हालांकि इसमें कुछ गलत नहीं है। यह सब प्यार में होता था। जया थोड़ा जल्दी रूठ जाती थीं।