साल 1997 की फिल्म दिल तो पागल है जबरदस्त हिट रही थी, जिसमें शाहरुख खान के साथ माधुरी दीक्षित और करिश्मा कपूर लीड रोल में थीं। हालांकि यश चोपड़ा चाहते थे कि फिल्म में करिश्मा नहीं बल्कि जूही चावला निशा का रोल निभाएं। उन्होंने जूही को फिल्म ऑफर भी की थी, लेकिन माधुरी दीक्षित से राइवलरी के चलते फिल्म ठुकरा दी थी। जूही ने कहा है कि उन्होंने ईगो प्रोब्लम के चलते फिल्म छोड़ी थी। जूम को दिए एक पुराने इंटरव्यू में जूही चावला ने फिल्म दिल तो पागल है ठुकराने का कारण बताते हुए कहा था, हमने (जूही और माधुरी) एक साथ करियर की शुरुआत की थी। एक ही साल में उनकी तेजाब आई थी और मेरी कयामत से कयामत तक। हमारे पूरे करियर में हमें हमेशा एक दूसरे से मिलाया जाता था। हमेशा से ही ऐसा रहा था कि हम में से कोई एक नंबर वन था, तो कभी कोई दूसरा। ये सब लंबे वक्त तक चला था। आगे उन्होंने कहा, जब मैंने फिल्म डर में यश चोपड़ा के साथ काम किया तो वो चाहते थे मैं दिल तो पागल है में भी काम करूं। और वो माधुरी के साथ भी काम करना चाहते थे। वो चाहते थे मैं दूसरा (निशा का) रोल करूं। मुझे लगा मैं क्यों दूसरा रोल करूं। मेरी कुछ इनसिक्योरिटी और ईगो प्रॉब्लम थीं, तो मैंने फिल्म नहीं की। ये इकलौता मौका था, जब हम साथ काम कर सकते थे। जब जूही चावला ने फिल्म ठुकराई तो यश चोपड़ा ने उस रोल में करिश्मा कपूर को कास्ट किया था। इस फिल्म को 1998 में 11 फिल्मफेयर नॉमिनेशन मिले थे, जिसमें से 7 कैटेगरी में फिल्म ने जीत हासिल की थी। करिश्मा कपूर को फिल्म के लिए बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का नेशनल और फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था। भले ही जूही चावला और माधुरी दीक्षित फिल्म दिल तो पागल है में साथ काम नहीं कर सके, हालांकि दोनों साल 2014 की फिल्म गुलाब गैंग में साथ नजर आए हैं।