पाकिस्तान ने मंगलवार (14 मई) को भारत में हो रहे चुनाव पर कहा कि भारतीय राजनेता हमें चुनाव में घसीटना बंद करें। वहां के विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत में कुछ पार्टियां बार-बार पाकिस्तान का नाम लेकर वोटिंग में फायदा उठा रही हैं। इसके लिए मंत्रालय ने अंतरराष्ट्रीय संगठनों से भारत में हो रही बयानबाजी पर ध्यान देने को कहा है। उनका कहना है कि ऐसी बयानबाजी से दोनों देशों में शांति भंग होती है और रिश्ते खराब होते हैं। पाकिस्तान की तरफ से ये बयान तब सामने आया है, जब 13 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के मुजफ्फरपुर में कहा था कि ये लोग (विपक्षी पार्टियां) इतने डरे हुए हैं कि रात में सपने में पाकिस्तान का परमाणु बम दिखाई देता है। क्या ऐसे लोगों को देश दे सकते हैं? क्या इंडी गठबंधन वाले बोल रहे हैं कि पाकिस्तान ने चूड़ियां नहीं पहनी हैं। अरे नहीं पहनी है तो पहना देंगे। पाकिस्तान ने जनवरी में भी भारत को टारगेट किया था
पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने भारत में चुनावी रैली के दौरान दिए गए पाकिस्तान विरोधी भाषण को चरमपंथी मानसिकता बताया। मंत्रालय ने कहा कि ऐसे बयानों से पाकिस्तान के प्रति भारत की सोच का पता चलता है। पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक, मंत्रालय ने बताया कि भारतीय राज नेताओं ने जो बयान दिए हैं, वो अहंकार और अंध राष्ट्रवादी है। ये वहां के नेताओं की खराब मानसिकता को उजागर करता है। ऐसा पहली बार नही है, जब पाकिस्तान ने भारत को इस तरह ज्ञान दिया हो। इससे पहले जनवरी में पाकिस्तान के विदेश सचिव सायरस काजी ने कहा था कि भारत ने उसके 2 नागरिकों की हत्या की है। इसके अलावा भारत उन पाकिस्तानियों को टारगेट कर रहा है, जो उसके देश में वांटेड हैं। काजी ने आगे कहा था कि हम यह मुद्दा अमेरिका और कनाडा के सामने भी उठाएंगे। दरअसल, पिछले कुछ महीने के अंदर कनाडा ने खालिस्तानी आतंकी निज्जर की हत्या और अमेरिका ने आतंकी पन्नू की हत्या की कोशिश के पीछे भारत के एजेंट का हाथ होने का दावा किया था। दोनों ही मामलों में फिलहाल जांच चल रही है।

You May like