रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने साउथ कोरिया को चेतावनी दी है कि अगर साउथ कोरिया, रूस के खिलाफ जंग में यूक्रेन को हथियार देता है तो ये उसकी एक बड़ी गलती होगी। इससे पहले साउथ कोरिया ने कहा था कि वो रूस और नॉर्थ कोरिया के बीच हुई नई डिफेंस डील को देखते हुए यूक्रेन को हथियार देने की सोच रहा है। इसके जवाब में पुतिन ने ये बात कही। वियतनाम दौरे पर पुतिन ने पत्रकारों से कहा कि अगर वे यूक्रेन को हथियार देते हैं तो हम भी कदम उठाने पर मजबूर होंगे जिससे साउथ कोरिया का वर्तमान लीडरशिप खुश नहीं होगा। पुतिन बोले- नॉर्थ कोरिया को हथियार दे सकता है रूस
पुतिन ने ये भी चेतावनी दी कि अगर अमेरिका और उसके सहयोगी देश यूक्रेन को हथियार देना जारी रखते हैं तो रूस, नॉर्थ कोरिया को हथियार देकर रहेगा। पुतिन ने कहा कि जो लोग यूक्रेन को हथियार दे रहे हैं वे इस भ्रम में हैं कि वे हमारे साथ युद्ध में नहीं हैं। पुतिन बोले- साउथ कोरिया को घबराने की जरुरत नहीं
पुतिन ने ये भी दावा किया कि नॉर्थ कोरिया और रूस के बीच हुए नए डिफेंस डील से साउथ कोरिया को घबराने की जरुरत नहीं है। पुतिन ने कहा कि नॉर्थ कोरिया, साउथ कोरिया के खिलाफ हमला करने जैसी कोई योजना नहीं बना रहा है। इसके साथ ही पुतिन ने NATO पर एशिया में रूस के लिए “खतरा पैदा करने” का आरोप लगाया। रूस-नॉर्थ कोरिया के बीच हुई नई डिफेंस डील
दरअसल दो दिन पहले रूसी राष्ट्रपति पुतिन नॉर्थ कोरिया के दौरे पर थे। इस दौरान दोनों देशों के बीच एक नई डीफेंस डील हुई।
डील के मुताबिक अब अगर किसी भी देश ने उत्तर कोरिया या फिर रूस पर हमला किया तो उसे दोनों देशों पर हमला माना जाएगा। ऐसे में दोनों देश मिलकर लड़ेंगे। किम जोंग उन ने नए डिफेंस डील को ‘एलायंस’ नाम दिया है। नॉर्थ कोरिया और रूस के बीच हुई इस डिफेंस डील से साउथ कोरिया परेशान हो गया और उसने रूसी राजदूत के सामने इसका विरोध जताया। साउथ कोरिया ने इस समझौते को राष्ट्रीय सुरक्षा के खिलाफ बताया था। साउथ कोरिया के राष्ट्रपति यूं सुक येओल के कार्यालय ने बयान में कहा कि यह समझौता साउथ कोरिया की सुरक्षा के लिए खतरा है और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन है। इसका रूस-दक्षिण कोरिया संबंधों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। पुतिन की ‘धमकी’ के बाद साउथ कोरिया का जवाब
इसके बाद साउथ कोरिया के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार चांग हो-जिन ने कहा था कि अब उनका देश ‘यूक्रेन को हथियार देने’ के मुद्दे पर विचार कर रहा है। हालांकि पुतिन की ‘कड़ी टिप्पणी’ के बाद साउथ कोरिया के राष्ट्रपति कार्यालय ने कहा कि वह यूक्रेन को हथियार देने के विकल्प पर विचार करेगा और उसका रुख इस बात पर निर्भर करेगा कि रूस इस मुद्दे को कैसे देखता है। CNN की रिपोर्ट के मुताबिक साउथ कोरिया, यूक्रेन को पहले भी मानवीय मदद और हथियार दे चुका है मगर उसने अब तक यूक्रेन को घातक हथियार देने से परेहज किया है। दरअसल साउथ कोरिया की आधिकारिक नीति में युद्ध लड़ रहे देशों को हथियार देने पर मनाही है।