बॉलीवुड वेटरन एक्ट्रेस फरीदा जलाल ने 1969 में रिलीज हुई फिल्म ‘आराधना’ में राजेश खन्ना और शर्मिला टैगोर के साथ काम करने के एक्सपीरिएंस के बारे में बात की है। फरीदा ने एक इंटरव्यू में बताया कि फिल्म की शूटिंग के दौरान वो काफी घबराई हुई थीं क्योंकि उन्हें राजेश खन्ना के साथ एक रोमांटिक गाना शूट करना था। फरीदा ने कहा, ‘आराधना’ की शूटिंग के दौरान मैं बेहद नर्वस थी। मैं कॉन्वेंट स्कूल में पली बढ़ी थी। मुझे मेरी नानी और मां ने पाला पोसा था। मेरा एक बड़ा भाई था। मैं जब दो साल की थी तभी मेरे पेरेंट्स का तलाक हो गया था तो मुझे पिता का प्यार कभी नहीं मिला। मैं जब फिल्मों में आई तो बहुत संकोची थी क्योंकि बस स्कूल से पास ही हुई थी और मुझे राजेश खन्ना के साथ रोमांटिक गाना शूट करना था।’ न्यूकमर थीं फरीदा, शर्मिला ने की मदद फरीदा ने आगे कहा, ‘आराधना’ के दौरान मैं नई थी और मुझे बिल्कुल भी एक्सपीरिएंस नहीं था। मैंने केवल एक फिल्म की थी और दूसरी फिल्म की शूटिंग कर रही थी। इसके साथ मैं फिल्म ‘आराधना’ में भी काम कर रही थी। मुझे रोमांटिक गानों और सींस के बारे में कुछ नहीं पता था। शर्मिला जी ने उस दौरान मेरी काफी मदद की थी। उन्होंने मेरी बहुत देखभाल की और पूरी शूटिंग के दौरान वो काफी प्रोटेक्टिव रहीं। जब भी वो मेरे चेहरे पर उदासी या परेशानी देखती थीं तो तुरंत मेरे पास आकर मेरा हौसला बढ़ाती थीं। यहां तक कि वो राजेश खन्ना को भी डांट देती थीं। फरीदा जलाल ने फिल्म के गाने ‘बागों में बहार है’ से जुड़ा किस्सा सुनाते हुए कहा, ‘राजेश खन्ना के साथ इस गाने की शूटिंग करते हुए मैं बेहद घबराई हुई थी। मुझे याद है मैंने डायरेक्टर से कहा कि मुझे एक्स्ट्रा रिहर्सल करनी पड़ेगी। इस पर राजेश खन्ना बोले-कितनी रिहर्सल करनी है? उनकी ये बात सुनकर मैं बेहद परेशान हो गई। शर्मिला जी ने तब मेरा सपोर्ट किया और राजेश खन्ना पर भड़कते हुए बोलीं, ‘तुम ऐसा कैसे कह सकते हो? हम 10 और टेक लेंगे।’ बता दें कि आराधना 1969 की सबसे बड़ी हिट फिल्मों में से एक थी।