सारा अली खान अपनी दादी और वेटरन एक्ट्रेस शर्मिला टैगोर को माॅर्डन बताती हैं। एक्ट्रेस का कहना है कि उनकी दादी की सोच आज भी मॉर्डन है और वो उन्हें लड़कों के मामले में बेस्ट एडवाइज देती हैं। फिल्मफेयर को दिए एक इंटरव्यू में सारा ने दादी के साथ अपनी बॉन्डिंग पर बात करते हुए बताया कि कैसे उनके बुरे वक्त में शर्मिला ने उन्हें संभाला था। जब बुरे वक्त से गुजरी, तब बड़ी अम्मा ने साथ दिया: सारा
अपनी दादी की पर्सनैलिटी से इंप्रेस्ड सारा कहती हैं ‘जब भी मैं कमजोर महसूस करती हूं तब मैं अपनी बड़ी अम्मा के पास जाती हूं। उनसे मुझे हिम्मत मिलती है। वे हमारे पूरे परिवार की आवाज है। साल 2020 में जब मैं अपनी लाइफ के मुश्किल वक्त से गुजर रही थी तब मेरे पिता (सैफ अली खान) मेरे साथ बंदूक ताने खड़े थे। उस वक्त दादी ने मेरा, मेरी मां और मेरे भाई का स्टैंड लिया था। वो पिता के साथ भी खड़ी हुई थीं।’ सारा ने आगे कहा, ‘दादी मुझे जमीन से जुड़ा रखती हैं। लड़कों का मामला हो, फिल्में हों या फिर सोशल लाइफ, वो हमेशा सबसे अच्छी एडवाइज देती हैं। वो चैंपियन हैं।’ ‘मुझे ट्रोलिंग से जरा भी परेशानी नहीं होती’
सोशल मीडिया पर ट्रोल किए जाने पर बात करते हुए सारा ने कहा, ‘मेरा मानना है जैसे ही किसी को मौका मिलता है वह आपको नीचे खींचने की कोशिश करने लग जाता है। सोशल मीडिया पर यह सबसे ज्यादा होता है, लेकिन आप यकीन मानिए मुझे ट्रोलिंग से जरा भी परेशानी नहीं होती। मैं मानती हूं जो हो रहा है उससे भी बुरा कुछ हो सकता है, इसलिए किसी भी हालात में परेशान नहीं होना चाहिए। एक और अहम बात जो मैं मानती हूं कि अगर आप एक्टर हैं और आपके बारे में कोई बात ही नहीं हो रही है तो आपका वजूद ही खत्म हो चुका है। मैं यह सोचती हूं कि आप कुछ हैं तभी तो आपके बारे में बातें की जा रही हैं।’ वर्कफ्रंट पर सारा, आयुष्मान खुराना के अपोजिट एक एक्शन-कॉमेडी फिल्म में नजर आएंगी। इसे करण जौहर और गुनीत मोंगा मिलकर प्रोड्यूस कर रहे हैं। इसके अलावा उनके पास अनुराग बसु की ‘मेट्रो इन दिनों’ भी है।