साउथ अमेरिका के देश बोलीविया में बुधवार को तख्तापलट की कोशिश नाकाम हो गई। बोलीविया के सैनिकों ने राजधानी ला पाज में मौजूद राष्ट्रपति पैलेस पर हमला बोल दिया। इसके बाद आर्मी के टॉप जनरल होजे ज्यूनिगा ने सेना के कुछ सदस्यों के साथ मिलकर राष्ट्रपति पैलेस में सैन्य वाहन लेकर घुसने की कोशिश की। हालांकि, कुछ समय के अंदर ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। बोलीविया के टेलीविजन पर इसका लाइव टेलिकास्ट किया गया। वीडियो के मुताबिक, बुधवार को बोलीविया की सिक्योरिटी फोर्स ने शहर के मुख्य चौराहे को घेर लिया। इसके बाद एक मिलिट्री वाहन राष्ट्रपति पैलेस के दरवाजे पर टक्कर मारने लगा। इस दौरान सैनिकों ने अंदर दाखिल होने की कोशिश की। सेना प्रमुख जनरल होजे ने कहा कि वे देश में लोकतंत्र का पुनर्गठन करना चाहते हैं। वे राष्ट्रपति लुइस आर्से का सम्मान करते हैं लेकिन देश की सरकार में बदलाव लाने की जरूरत है। वहीं सरकार के समर्थन में जनता सड़कों पर उतर आई। उन्हें रोकने के लिए सैनिकों ने आंसू गैस का भी इस्तेमाल किया। राष्ट्रपति बोले- यह बोलीविया की जनता और लोकतंत्र की जीत
हालांकि, हमले के कुछ समय बाद ही सेना पीछे हट गई और जनरल होजे को गिरफ्तार कर लिया गया। तख्तापलट फेल होने के बाद राष्ट्रपति ने कहा देश की जनता को लोकतंत्र की रक्षा के लिए एकजुट होने की जरूरत है। यह बोलीविया के लोगों और लोकतंत्र की जीत है। गिरफ्तार होने के ठीक पहले जनरल होजे ने आरोप लगाया कि उन्हें राष्ट्रपति आर्से ने ही तख्तापलट की कोशिश करने को कहा था। आर्मी चीफ ने मीडिया को बताया कि राष्ट्रपति ने उनसे देश के हालात पर बातचीत की थी। उन्होंने कहा था कि यह हफ्ता सरकार के लिए बेहद अहम हैं। ऐसे में उन्हें जनता का समर्थन लेने की जरूरत है। तख्तापलट नाकाम होने से उनकी पॉपुलैरिटी के बढ़ने की संभावना है। कुछ दिन पहले ही बर्खास्त हुए थे आर्मी जनरल
बोलीविया की लोकल मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जनरल होजे को इसी हफ्ते उनके पद से हटाया गया था। उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति इवो मोरालेस को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, जिसके बाद सरकार ने यह फैसला लिया था। लोकल रिपोर्टर्स के मुताबिक, तख्तापलट की कोशिश के दौरान जनरल होजे कुछ समय के लिए पैलेस में दाखिल हुए थे। उनकी सुरक्षा के लिए आसपास नकाबपोश सुरक्षाकर्मी तैनात थे। सरकार की आलोचना करते हुए सेना प्रमुख ने कुछ राजनेताओं और सेना के उन सदस्यों की रिहाई की मांग की थी, जिन्हें गिरफ्तार किया गया था। जनरल की गिरफ्तारी के बाद राष्ट्रपति ने घोषणा करते हुए कहा कि वे तीनों सेनाओं के कमांडर जनरल को हटाएंगे। इसके बाद जनरल होजे विल्सन सांचेज को नया सेना प्रमुख नियुक्त किया गया। देश के अटॉर्नी जनरल के ऑफिस ने जानकारी दी कि जनरल होजे और तख्तापलट में शामिल दूसरे सैन्य अफसरों के खिलाफ जांच शुरू की गई है। इन्हें कड़ी सजा दी जाएगी। बोलीविया में 200 सालों में 190 बार तख्तापलट हुआ
बोलीविया में तख्तापलट की कोशिश कोई नई बात नहीं है। देश में पिछले 200 सालों में 190 बार तख्तापलट हो चुका है। बोलीविया में 1.20 करोड़ लोग रहते हैं। देश के वामपंथी राष्ट्रपति लुइस आर्से को पूर्व राष्ट्रपति मोरालेस ने अपने उत्तराधिकारी के तौर पर चुना था। हालांकि, उनके सत्ता में आने के बाद से दोनों नेता पार्टी पर कंट्रोल को लेकर आमने-सामने रहे हैं। साथ ही दोनों के बीच अगले साल होने वाले राष्ट्रपति चुनाव का उम्मीदवार बनने की भी होड़ है। बोलीविया की अर्थव्यवस्था लगातार कमजोर होती जा रही है। राष्ट्रपति आर्से पर आरोप है कि उन्होंने सत्ता में रहते हुए लोकतंत्र के खिलाफ जाकर कई कदम उठाए हैं। उन्होंने विपक्षी नेता लुइस फर्नांडो और पूर्व राष्ट्रपति जिनीन आनेज को गिरफ्तार करवाया है।