ब्रिटेन में भारतीय मूल के हिंदू धर्मगुरु राजिंदर कालिया पर उनकी एक शिष्या ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। द मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक, राजिंदर ने अपने उपदेशों और शिक्षाओं के जरिए शिष्यों को गलत तरह से प्रभावित करने की कोशिश की। 68 साल के कालिया दावा करते हैं कि वे मरीजों का इलाज कर सकते हैं। इसके अलावा उन्होंने झूठे वीडियो के जरिए लोगों के सामने चमत्कार दिखाने की भी कोशिश की। इस दौरान उन्होंने नींबू से खून निकालने और पानी में आने लगाने का वीडियो दिखाया। राजिंदर ने भारतीय मूल की 4 शिष्याओं की मदद करने के बहाने उनका रेप किया। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, इन चारों महिलाओं ने राजिंदर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। इनमें से 3 ने आरोप लगाया है कि राजिंदर कई सालों से उनका शोषण कर रहा था। इसके अलावा उस पर 3 लोगों से बिना तनख्वाह दिए काम कराने का भी आरोप है। राजिंदर ने 22 साल तक शिष्या का रेप किया
57 साल की रेप पीड़िता ने बताया कि वह काफी कम उम्र अपने बच्चे के साथ राजिंदर के आश्रम गई थी। धीरे-धीरे वह नियमित तौर पर हर हफ्ते 3 सेशन में शामिल होने लगीं। एक दिन वह रो रही थी। तब राजिंदर उसके पास आया और कहा कि वह सब जानता है कि कब-क्या होने वाला है। उसका नर्क या स्वर्ग में जाना भी वही तय करेगा। महिला ने बताया कि राजिंदर ने अगले 22 साल तक करीब 1320 बार महिला का यौन शोषण किया। वह भगवान कृष्ण से खुद की तुलना करता था। वहीं 48 साल की एक दूसरी पीड़िता ने बताया कि राजिंदर 13 साल की उम्र से उसका शोषण कर रहा है। जब 2017 में उसने पुलिस से इसकी शिकायत की तो राजिंदर के कुछ शिष्यों ने मिलकर उसको ऐसिड अटैक की धमकी दी। 37 साल की तीसरी पीड़िता ने बताया कि वह 13 साल की उम्र से राजिंदर के आश्रम में ड्रम बजाने का काम कर रही है। वह तब तक उससे ड्रम बजवाता था, जब तक उसके हाथ से खून न निकलने लगे। इसके अलावा वह छोटी उम्र से ही उसका रेप करता आया है। पुलिस को रिश्वत देकर केस खारिज करवाया
पीड़ितों ने राजिंदर के खिलाफ 84 करोड़ का मुकदमा दर्ज किया है। राजिंदर पर यह भी आरोप है कि जब उसके शिष्यों ने पुलिस से शिकायत की तो उनसे उन्हें 2.64 लाख की रिश्वत भी दी। इसके बाद पुलिस ने उस पर लगे आरोपों को खारिज करते हुए केस रद्द कर दिया। राजिंदर ने अपने खिलाफ अब तक लगे सभी आरोपों को खारिज किया है। उसने आरोप लगाया कि उसे बदनाम करने के लिए यह साजिश रची गई है। कोर्ट में सुनवाई के दौरान राजिंदर ने दावा किया कि बचपन में हिमाचल प्रदेश में एक बाइक क्रैश में उसका एक्सीडेंट हो गया था। इस दौरान उसके पैर में गंभीर चोट आई थी। हालांकि कुछ समय बाद वह अपने आप ही ठीक हो गया और फिर से चलने लगा। राजिंदर का दावा- बचपन में एक्सीडेंट हुआ, पैर में चोट आई, फिर अपने आप ठीक हो गया
राजिंदर कालिया 21 साल की उम्र में ब्रिटेन आया था। कुछ ही समय बाद 1986 में उसने यहां बाबा बालकनाथ मंदिर की स्थापना की। वह अपने कथित चमत्कारों के जरिए खुद को भगवान बताता है। राजिंदर शादीशुदा है और उसकी पत्नी का नाम सचित्रा है। वे वारविकशायर में 11.65 करोड़ के बंगले में रहते हैं।