टीवी एक्टर करण वाही और क्रिस्टल डिसूजा मुसीबत में फंसते नजर आ रहे हैं। दरअसल, 3 जुलाई को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दोनों से मुंबई में ईडी (एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट) ने पूछताछ की है। इन टीवी सेलेब्स से ऑक्टाएफएक्स ट्रेडिंग ऐप के जरिए ऑनलाइन फॉरेक्स ट्रेडिंग में शामिल होने के बारे में पूछताछ की जा रही है। निया शर्मा को भी भेजा गया समन ऑनलाइन ट्रेडिंग ऐप के प्रचार के मामले में ईडी ने टीवी एक्टर निया शर्मा को भी समन भेजकर तलब किया है। उन्हें भी जल्द पूछताछ के लिए ईडी ऑफिस बुलाया जाएगा। अप्रैल में ईडी ने मारे थे छापे सबसे पहले इस मामले में पुणे पुलिस ने शिवाजी नगर पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया था जिसे बाद में ईडी ने टेकओवर कर लिया और जांच शुरू की। आरोप है कि इंटरनेशनल ब्रोकर ऑक्टाएफएक्स ट्रेडिंग ऐप के जरिए भारत में गैरकानूनी ऑनलाइन फॉरेक्स ट्रेडिंग की जा रही थी। इसके लिए RBI से परमिशन नहीं ली गई थी, इसी वजह से ईडी ने केस दर्ज कर छानबीन शुरू की। इसी मामले में ईडी ने अप्रैल 2024 में मुंबई, चेन्नई, कोलकाता और दिल्ली में रेड भी मारी थी। इस दौरान ईडी ने कई डिजिटल एविडेंस और दस्तावेज रिकवर किए थे। साथ ही तकरीबन ढाई करोड़ के बैंक फंड्स की फ्रीज किए थे। ऑनलाइन ट्रेडिंग ऐप है ऑक्टाएफएक्स ऑक्टाएफएक्स एक ऑनलाइन ट्रेडिंग ऐप है। भारत में ये ऐप अब तक 500 करोड़ रुपये की ट्रेडिंग कर चुका है। इस ट्रेडिंग फोरेक्स ऐप को सोशल मीडिया पर टीवी एक्टर करण वाही और एक्ट्रेस क्रिस्टल डिसूजा प्रमोट कर रहे थे। दोनों ने इसके लिए भारी-भरकम फीस भी वसूली थी जिसके कारण वो ईडी के निशाने पर आ गए।