मालदीव की पर्यावरण राज्य मंत्री फातिमाथ शमनाज को राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू पर काला जादू करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है। स्पेनिश न्यूज एजेंसी EFE के मुताबिक,फातिमाथ के अलावा 2 और लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कोर्ट ने सभी को 7 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा है। हालांकि, मालदीव की सरकार की तरफ से अब तक इस मामले में कोई बयान नहीं दिया गया है। इससे पहले पुलिस ने फातिमाथ के घर की तलाशी ली थी। इस दौरान वहां से काला जादू से जुड़ा काफी सामान बरामद हुआ था। फातिमाथ राष्ट्रपति कार्यालय में काम करने वाले मंत्री एडम रामीज की पत्नी हैं। राष्ट्रपति के आधिकारिक घर में राज्य मंत्री थीं फातिमाथ
फातिमाथ इससे पहले भी राष्ट्रपति मुइज्जू के साथ माले की सिटी काउंसिल की सदस्य रह चुकी हैं। तब मुइज्जू राजधानी माले के मेयर थे। पिछले साल उनके राष्ट्रपति बनने के बाद फातिमाथ ने भी काउंसिल से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद वह राष्ट्रपति के आधिकारिक निवास मुलिआज की राज्य मंत्री बन गई। बाद में उन्हें ट्रांसफर कर पर्यावरण मंत्रालय में शिफ्ट कर दिया गया। मालदीव में काले जादू को फंदिता या सिहुरु नाम से जाना जाता है। इस्लाम कानून में इसे गंभीर अपराध कहा गया है। हालांकि, इसके बावजूद मालदीव में बड़ी संख्या में लोग काला जादू करते हैं। पिछले महीने पुलिस ने मुइज्जू की पार्टी के एक नेता पर काला जादू करने के मामले में 60 साल के बुजुर्ग को गिरफ्तार किया था। पिछले 2 राष्ट्रपति चुनावों में भी नतीजे बदलने के लिए काला जादू का इस्तेमाल हुआ
अगस्त 2018 में मालदीव के कुल्हुधुफुशी द्वीप पर 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इन पर आरोप था कि सितंबर 2018 में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष की जीत के लिए ये काला जादू कर रहे थे। दिसंबर 2015 में मालदीव के इस्लामिक मंत्रालय ने एक सार्वजनिक बयान जारी कर चेतावनी दी थी कि काला जादू समाज में बड़े पैमाने पर फैल रहा है और जनता को ऐसी प्रथाओं से दूर रहने की जरूरत है। इससे पहले 2013 के राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों को पलटने के लिए भी काले जादू का इस्तेमाल किया गया था। इसके लिए एक शापित नारियल और काले जादू वाली गुड़िया को पोलिंग स्टेशन पर रखा गया था।