इस साल करीब 4,300 भारतीय करोड़पति देश छोड़ सकते हैं। इसमें से अधिकांश का ठिकाना UAE हो सकता है। एक इंटरनेशनल फर्म हेनली एंड पार्टनर्स की रिपोर्ट में ये अनुमान लगाया गया है। इसमें उन लोगों की गिनती की गई है जिसके पास कम से कम 10 लाख डॉलर (8.3 करोड़ रुपए) की संपत्ति है। रिपोर्ट के मुताबिक धनी लोगों के पलायन के मामले में भारत तीसरे नंबर पर है। साल 2024 में चीन से सबसे अधिक 15,200 और यूनाइटेड किंगडम (UK) से 9,500 करोड़पति दूसरे देशों की ओर पलायन कर सकते हैं। भारत से लगातार तीसरे साल घटा पलायन
रिपोर्ट के मुताबिक भारत इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर है। हालांकि अच्छी बात ये है कि भारत से रईसों के पलायन की संख्या लगातार तीसरे साल घटी है। पिछले साल भारत छोड़ने वाले अमीर लोगों की संख्या 5,100 थी। वही साल 2022 में 8,000 भारतीय करोड़पतियों ने भारत छोड़ा था।
इस साल विश्वस्तर पर कुल 1,28,000 करोड़पतियों के उनके देश छोड़ने का अनुमान लगाया गया है। अगर 2023 से इसकी तुलना करें ये आंकड़ा बढ़ा है। पिछले साल कुल 1,20,000 करोड़पतियों ने अपना देश छोड़ा था। कोरोना से पहले 2019 में ये आंकड़ा 1,10,000 था। रईसों की पहली पसंद बना UAE
संयुक्त अरब अमीरात (UAE) और अमेरिका वो दो देश हैं जहां सबसे अधिक रईस जाकर बस रहे हैं। अमेरिका कई सालों तक धनी लोगों की पहली पसंद बना रहा लेकिन अब UAE ने उसके वर्चस्व को तोड़ दिया है।
रिपोर्ट में बताया गया है कि इस साल 6,700 करोड़पति UAE में बस सकते हैं। जबकि USA में 3,200 करोड़पति के बसने का अनुमान लगाया गया है। इसके बाद नंबर सिंगापुर का है जहां करीब 3,500 करोड़पतियों के जाने की उम्मीद है। पिछले साल भी UAE सबसे अधिक लोग गए
रिपोर्ट बताती है कि साल 2023 में भी सबसे अधिक 4,700 रईस UAE में बसे थे। दूसरे नंबर पर ऑस्ट्रेलिया है जहां 4,000 करोड़पति, और तीसरे नंबर पर सिंगापुर में 3,400 लोग बसने गए थे। इसके बाद अमेरिका(2,200) और कनाडा(2,100) का नंबर था। कई वजहों से UAE बना पसंदीदा देश
रिपोर्ट्स के मुताबिक UAE में टैक्स की दरों में मिलने वाली जबरदस्त छूट और बिजेनस के लिए बेहतर माहौल होनी की वजह से ये अमीरों का पसंदीदा देश बन गया है। UAE के दुबई में अमीरों को जीरो इनकम टैक्स देना होता है इसके अलावा उद्योगपतियों के लिए यहां पर फ्लेक्सिबल टैक्स स्ट्रचर और बेहतर कानून व्यवस्था है। यही वजह है कि अधिकांश अमीर UAE में बसना पसंद कर रहे हैं। अगर सिर्फ भारतीयों की बात करें तो 2013 से 2023 के बीच UAE जाने में 85% इजाफा हुआ है। भारत की स्थिति थोड़ी अलग
अमीर लोगों के पलायन को किसी भी देश के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। लेकिन भारत के मामले में स्थिति थोड़ी सी अलग है। रिपोर्ट कहती है कि यहां करोड़पति लोग देश से पलायन करने के बाद भी अपने कारोबार और अचल संपत्ति को नहीं छोड़ रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक भारत को छोड़ दूसरे देश में अपना घर बसाने वाले अधिकांश रईस अपना बिजनेस इंट्रेस्ट और दूसरा घर यहां बनाए रखते हैं। इसके अलावा रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत में जितने करोड़पति पलायन कर रहे हैं उसी अनुपात में करोड़पति तैयार भी हो रहे हैं। भारत में कुल 3,26,400 करोड़पति और 120 अरबपति हैं।
करोड़पतियों के मामले में भारत दुनिया में दसवें नंबर पर है। पिछले 10 वर्षों के दौरान भारत में करोड़पतियों की संख्या 85 फीसदी बढ़ी है। भारत में 1,044 लोग हैं जिनके पास 100 मिलियन डॉलर संपत्ति है। इस मामले में भारत चौथे नंबर पर है।