साउथ कोरिया के पूर्व राष्ट्रपति मून जे-इन की पत्नी किम जंग-सूक ने सोमवार को सत्ताधारी पार्टी के एक सांसद पर गलत सूचना फैलाने और मानहानि का केस किया है। दक्षिण कोरियाई समाचार द कोरियाई टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक PPP पार्टी के सासंद बे ने पिछले महीने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पूर्व राष्ट्रपति की पत्नी पर ये आरोप लगाए थे। उन्होंने दावा किया था कि जंग-सूक 2018 में अपनी भारत यात्रा के दौरान जमकर अय्याशी की थी और टैक्सपेयर्स के पैसों का दुरुपयोग किया था। भारत यात्रा पर करोड़ों खर्च करने का आरोप
सासंद बे ने दावा किया था कि जंग-सूक 6 साल पहले भारत दौरे पर गई थीं, जहां पर उन्होंने चार दिनों में 230 मिलियन वॉन (करीब 1.40 करोड़) खर्च कर डाले थे। उन्होंने कहा कि किम और उनके प्रतिनिधिमंडल ने सिर्फ खाने पर 62 मिलियन वॉन (40 लाख भारतीय रुपये) उड़ा दिए थे। सासंद बे के इन आरोपों को लेकर साउथ कोरिया की राजनीति में हंगामा मचा हुआ है। PPP पार्टी ने इसे मुद्दा बना लिया है। ताजमहल देखने पर भी विवाद
साउथ कोरिया में सत्ताधारी पार्टी के नेता ये आरोप लगा रहे हैं कि जंग-सूक ने पद का दुरुपयोग करते हुए जनता के पैसे बर्बाद किए और सिर्फ ताजमहल देखने के लिए करोड़ों रुपये फूंक दिए PPP के नेताओं ने आरोपों को लेकर एक विशेष जांच की मांग की है। हालांकि मुख्य विपक्षी पार्टी DPK ने कहा है कि ये पूर्व राष्ट्रपति को बदनाम करने की एक और कोशिश है। उन्होंने कहा कि सरकार मौजूदा राष्ट्रपति की पत्नी पर मंहगे गिफ्ट लेने के आरोप हैं। विपक्ष इससे जनता का ध्यान हटाना चाहती है इसलिए वे जानबूझकर गलत आरोप लगा रही है। मौजूदा प्रथम महिला पर भी लगे गंभीर आरोप
दरअसल मौजूदा राष्ट्रपति यून सिक योल की पत्नी किम कियोन ही पर विदेशों में महंगे गिफ्ट्स लेने के आरोप हैं। विपक्षी पार्टी DPK का आरोप है कि 2022 में अमेरिका के दौरे पर एक पादरी से उन्हें एक लग्जरी बैग गिफ्ट मिला था, जिसकी कीमत 2200 डॉलर ( करीब 2 लाख रुपये) से भी अधिक थी। हालांकि इस मामले को भ्रष्टाचार रोकने से जुड़ी एजेंसी ने खारिज कर दिया था। हालांकि विपक्षी पार्टी DPK ने एक बार फिर से लग्जरी बैग से जुड़े मामले की जांच की मांग की है। इसके अलावा विपक्षी पार्टी को उम्मीद है कि किम कियोन से जुड़े अन्य आरोपों की भी जांच की जाएगी। दक्षिण कोरियाई समाचार एजेंसी योनहाप के मुताबिक किम कियोन पर लग्जरी जैकेट गिफ्ट लेने और राष्ट्रपति गार्ड से स्विमिंग की ट्रेनिंग लेने के आरोप हैं। जंग-सुक अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम में हुईं थी शामिल
किम जंग-सुक दिवाली के मौके पर भारत आई थी। उन्हें अयोध्या में दीपोस्तव कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में हिस्सा लिया था। किम जंग-सुक ने अयोध्या में कोरिया की पूर्व महारानी क्वीन हो की स्मृति में बनाए जा रहे संग्रहालय का शिलान्यास भी किया था। अयोध्या और कोरिया का हजारों साल पुराना संबंध है। कोरियाई मान्यता के मुताबिक, करीब 2000 साल पहले अयोध्या की राजकुमारी सुरीरत्ना कोरिया गई थीं और महाराजा किम सुरो से शादी की थी और महारानी हो हवांग-ओक बन गई थी। वापसी में सियोल जाने से पहले राष्ट्रपति की पत्नी ने ताजमहल का भी दीदार किया था। कोरियाई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनकी भारत यात्रा की उस वक्त भी आलोचना हुई थी क्योंकि 16 साल में यह पहली बार था जब किसी कोरियाई प्रथम महिला ने राष्ट्रपति के बिना विदेश यात्रा की थी। पूर्व राष्ट्रपति ने दी सफाई
पिछले महीने पूर्व राष्ट्रपति मून जे-इन ने बताया था कि वे जुलाई 2018 में भारत दौरे पर गए थे। इस दौरान ही उन्हें अयोध्या में दीपोस्तव कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया था। लेकिन समय की व्यस्तता के कारण वे इस दौरे पर नहीं जा सके और उन्होंने अपनी पत्नी को भेज दिया था।