टीवी एक्ट्रेस संगीता घोष शो ‘सांझा सिंदूर’ से टेलीविजन पर अपना कमबैक कर रही हैं। साल 2022 में उन्हें शो ‘स्वर्ण घर’ में बतौर लीड एक्ट्रेस देखा गया था। इसी दौरान वो 45 साल की उम्र में मां बनी थीं। एक्ट्रेस की मानें तो 45 की उम्र में मां बनने का फैसला लेना आसान नहीं था। करियर, प्रेग्नेंसी और लाइफ को लेकर संगीता ने दैनिकभास्कर से बातचीत की। जानिए उन्होंने क्या कहा… मां बनने का फैसला काफी देर से लिया था संगीता कहती हैं, ‘उस वक्त मैं काफी घबराई हुईं थी। मैंने यह फैसला काफी देर से लिया था। मैं कभी मां बन पाऊंगी या नहीं, इस बात को लेकर श्योर भी नहीं थी। कोविड के दौरान, हस्बैंड ने मुझसे इस टॉपिक पर बात की थी। उस वक्त मुझे भी एहसास हुआ कि हम दोनों को पेरेंटहुड जर्नी एक्सपीरियंस करनी चाहिए। मैं अपने लाइफ पार्टनर की हमेशा थैंकफुल रहूंगी। उन्होंने ही मुझे मां बनने के लिए राजी किया था। आज इस फैसले से हम दोनों बहुत खुश हैं।’ बेटी के लिए, अब खुद को ज्यादा फिट बनाना होगा एक्ट्रेस ने आगे कहा, ‘मुझे अपनी बेटी के लिए और भी यंग बनना है। उसके साथ फुटबॉल-क्रिकेट खेलने से लेकर पढ़ाई करवाने तक, मैं उसके साथ हर मोमेंट को एन्जॉय करना चाहती हूं। जिसके लिए मुझे अब खुद को ज्यादा फिट बनाना होगा। आने वाले समय में, मेरी बेटी मुझे नई-नई बातें सिखाएगी, यह सोचकर ही मैं काफी उत्साहित हो जाती हूं। लोग कहते थे कि जब तुम मां बनोगी तब एहसास होगा कि असली प्यार क्या होता है। मुझे यह एहसास हो रहा है।बेटी देवी की एक मुस्कुराहट से ही दिनभर की थकान मिट जाती है।’ नेगेटिव लोगों की मेरी जिंदगी में कोई जगह नहीं क्या कभी मदरहुड को लेकर सोसाइटी का दबाव झेलना पड़ा था? ‘देश में निकला होगा चांद’ एक्ट्रेस कहती हैं, ‘कभी नहीं’। दरअसल, मैं एक ऐसी महिला हूं जिसे कभी अपने किसी भी फैसले का पछतावा नहीं होता है। लोग मेरे बारे में क्या कहते हैं, इसका कभी स्ट्रेस नहीं लिया है। मैं अपनी लाइफ में मस्त रहती हूं। मेरी जिंदगी में उन्हीं लोगों की जगह है, जो मुझे बढ़ावा दें और खुशी दें। नेगेटिव लोगों की मेरी जिंदगी में कोई जगह नहीं है।’ परिवार को छोड़कर काम करना कोई गलत बात नहीं संगीता की बेटी देवी का जन्म 25 दिसंबर 2021 में हुआ था। लेकिन, बेटी के पैदा होने के 25 दिन बाद ही उन्हें काम पर वापसी करनी पड़ी थी। क्या इस बात का उन्हें रिग्रेट हुआ है? इस पर उन्होंने कहा, ‘बिल्कुल नहीं। अब तो देवी ढाई साल की हो गई है लेकिन उसके पैदा होने के 25 दिन बाद ही मैंने काम करना शुरू कर दिया था। यदि आप अपने परिवार को छोड़कर बाहर जाकर काम कर रही हैं तो इसमें कोई गलत बात नहीं हैं। मैं चाहती हूं कि मेरी बेटी भी इस बात को समझे और सीखे। हां, काम के वक्त मैं देवी को बहुत मिस करती हूं। उसको छोड़कर आने में तकलीफ तो होती है लेकिन मैं अपने काम से भी प्यार करती हूं।’ संगीता ने मिसकैरेज भी झेले संगीता घोष ने राजस्थान के जाने-माने पोलो प्लेयर राजवी शैलेन्द्र सिंह राठौर से शादी की है। दोनों की मुलाकात जयपुर में संगीता के घुड़सवारी सीखने के दौरान हुई थी। साल 2011 में दोनों ने प्राइवेट सेरेमनी में शादी की थी। संगीता ने मां बनने का खुलासा बेटी के जन्म से 7 महीने बाद किया था। दरअसल, जन्म के वक्त बेटी प्रीमैच्योर थी। उन्हें 15 दिनों तक NICU (नियोनेटल इंटेंसिव केयर यूनिट) में रखा गया था। इससे पहले एक बार संगीता को मिसकैरेज हो चुका था। इसलिए वह इस बात को बताने की जल्दबाजी में नहीं थीं। ‘सांझा सिंदूर’ में नेगेटिव किरदार में नजर आएंगी सीरियल ‘सांझा सिंदूर’ में संगीता नेगेटिव किरदार में नजर आएंगी। शो को लेकर उन्होंने कहा, ‘शो में मेरा किरदार काफी कॉम्प्लेक्स है। सरोज का किरदार बहुत स्वीट है, सही है, सबको लगता है कि वह बहुत अच्छी है। हालांकि, सरोज को लगता है कि उनके साथ कुछ गलत हुआ है जिसे वो सही करना चाहती है। मैंने इससे पहले भी कुछ नेगेटिव किरदार किए है, मैं इसे खूब एन्जॉय करती हूं।’