दिलजीत दोसांझ ने हाल में खुलासा किया है कि उन्हें 8 साल की उम्र में स्कूल की एक लड़की से प्यार हो गया था। सीनियर्स के कहने पर उन्होंने लड़की को प्रपोज भी कर दिया था। लेकिन लड़की ने यह बात टीचर को बता दी थी। मामला इतना आगे बढ़ जाने पर दिलजीत को डर था कि अगर ये बात पेरेंट्स को पता चल गई तो बहुत गड़बड़ हो जाएगी। ऐसे में उन्होंने घर से भागने का फैसला किया, लेकिन एक गांव वाले ने उनके इस प्लान पर पानी फेर दिया था। दिलजीत बोले- सीनियर्स के बहकावे में आकर लड़की को प्रपोज कर दिया था राज शमानी को दिए इंटरव्यू में दिलजीत ने बताया- मैंने 8 साल की उम्र में घर से भागने की कोशिश की थी। मेरे स्कूल में एक लड़की थी, उसकी वजह से मैंने घर से भागने की कोशिश की थी। दरअसल, जब मैं स्कूल में था, तब मेरे कुछ सीनियर ने पूछा कि मुझे कौन सी लड़की पसंद है। मैंने एक लड़की की ओर इशारा करते हुए कहा- मैं उसे पसंद करता हूं। तब सीनियर्स ने कहा कि मैं उस लड़की को प्रपोज कर दूं, तभी हमारी शादी हो पाएगी। उन लोगों की बातों में आकर मैंने दिल की बात उस लड़की से कह दी। लेकिन वो लड़की इस बात पर भड़क गई और टीचर से जाकर मेरी शिकायत कर दी। फिर टीचर ने मुझसे पेरेंट्स को स्कूल लाने के लिए कहा। ये सुनते ही लगा मानो मेरी दुनिया का अंत हो गया हो। घर से भागने के मकसद से निकले, लेकिन एक गांव वाले ने रोक दिया दिलजीत ने आगे बताया- स्कूल के बाद मैं घर गया। फ्रिज से दो केले और कुछ दूसरे फल निकाले। फिर साइकिल ली और घर से निकल पड़ा। मैं अपने घर से सिर्फ 5 मिनट की दूरी पर गया था, तभी गांव के एक शख्स मिले। उन्होंने चिल्लाते हुए कहा- तुम कहां जा रहे हो, अपने घर वापस जाओ। पहले गांव में दूसरे भी लोग पिता के हैसियत से डांट सकते थे। सभी परिवार की तरह रहते थे। इस कारण मैं चाह कर भी अपने प्लान में सफल नहीं हो पाया। पहला प्लान फेल हो जाने के बाद मैंने पेट दर्द का बहाना बनाया और दो दिन स्कूल नहीं गया। उधर, टीचर ने भी मुझे माफ कर दिया।