अमृतसर में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) की बैठक में हिमाचल प्रदेश (HP) से नवनिर्वाचित सांसद एवं फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौट के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग रखी है। SGPC प्रधान एडवोकेट हरजिंदर सिंह धामी ने कहा कि कंगना के खिलाफ चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर हुए विवाद के बाद सिखों के बारे में कहे शब्दों के आधार पर कार्रवाई होनी चाहिए। SGPC प्रधान ने कहा कि चंडीगढ़ एयरपोर्ट विवाद के बाद CISF जवान सिख युवती का तो ट्रांसफर कर दिया गया, लेकिन कंगना रनौट के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। वहीं, हिमाचल प्रदेश में पंजाबियों व सिखों के साथ हो रहे व्यवहार को लेकर सरकार को सोचना चाहिए। इससे उनका तो कोई नुकसान नहीं होगा, टूरिस्ट कम हो जाएंगे। इस बात से ही हिमाचल प्रदेश सरकार को सीख लेनी चाहिए कि पंजाबियों ने इस बार हिमाचल प्रदेश की जगह जम्मू-कश्मीर का रुख कर लिया है। योगा गर्ल की गलती माफी लायक नहीं SGPC प्रधान ने बताया कि बीते दिनों गोल्डन टेंपल परिसर में योग का मुद्दा सामने आया था। युवती ने माफी भी मांगी, लेकिन कई बातें माफ करने योग्य नहीं होती। जबकि गोल्डन टेंपल परिसर के बाहर स्क्रीन लगी है और बार-बार सचेत भी किया जाता है कि मर्यादा का ध्यान रखा जाए। लेकिन ऐसा नहीं होता। अगर इसी तरह गलतियों पर माफ किया जाता रहा तो सही संदेश नहीं जाएगा। राजस्थान में ज्यूडिशियरी पेपर विवाद पर लीगल एक्शन की तैयारी प्रधान एडवोकेट धामी ने बताया कि बीते दिनों राजस्थान में ज्यूडिशियरी परीक्षा के दौरान दो सिख युवतियों को इसलिए परीक्षा केंद्र में नहीं जाने दिया, क्योंकि उन्होंने श्री साहिब व कड़ा पहन रखा था। जबकि ये उनका मौलिक अधिकार है। देखा गया है कि देश के एयरपोर्ट्स पर व विभिन्न परीक्षाओं में सिखों के ककारों को लेकर परेशान किया जाता है। ऐसे में SGPC माहिरों की राय ले रही है, जिसके बाद लीगल एक्शन लिया जाएगा। गोल्डन टेंपल में फिल्मों की प्रमोशन नहीं कर पाएंगे स्टार बीते कुछ समय में देखा गया है कि पंजाब व बॉलीवुड स्टार फिल्मों की प्रमोशन के लिए गोल्डन टेंपल आते हैं। वे माथा टेकते हैं और अपने साथ कैमरा मैन लेकर पहुंचते हैं। इस पर श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी रघबीर सिंह की तरफ से भी ऐतराज उठाया गया था। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। SGPC का कहना है कि गोल्डन टेंपल आस्था का केंद्र है। ऐसे में स्टार्स को सिर्फ श्रद्धालु बन माथा टेकने की अनुमति होगी, वे फिल्म की प्रमोशन नहीं कर पाएंगे।